Friday, June 14, 2024

संस्कृति मंत्री ने दो दिवसीय पाली महोत्सव का किया शुभांरभ, सांस्कृतिक प्रस्तुतियों में झूमे दर्शक

Must read

- Advertisement -


राज्य शासन प्रदेश की कला संस्कृति को दे रही बढ़ावा, पाली महोत्सव की भव्यता लगातार बढ़ेगी: मंत्री अमरजीत भगत

पाली महोत्सव के भव्य आयोजन के लिए बनाया जाएगा शेड

कोरबा 18 फरवरी 2023 :- खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति एवं संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने आज पाली में महाशिवरात्रि के अवसर पर आयोजित दो दिवसीय पाली महोत्सव का शुभांरभ किया। इस वर्ष पाली महोत्सव पाली से लगे ग्राम केराझरिया के मैदान में आयोजित की गई । इस अवसर पर मंत्री श्री भगत ने कहा कि आने वाले समय में पाली महोत्सव और भव्य रूप लेगा तथा कोरबा और छत्तीसगढ़ ही नहीं बल्कि पूरे देश में अपनी अलग पहचान बनायेगा।

श्री भगत ने कहा कि छत्तीसगढ़ की सरकार मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ी परंपरा और लोक संस्कृति को बचाने और बढ़ाने का काम तेजी से कर रही है। उन्होने छत्तीसगढ़ की संस्कृति और लोककला के संरक्षण और प्रयासों के लिए मुख्यमंत्री श्री बघेल का आभार जताया। संस्कृति मंत्री श्री भगत ने पाली महोत्सव के भव्यता को बढ़ावा देने के लिए पाली महोत्सव स्थान में पक्के शेड निर्माण की घोषणा की। उन्होंने इसके लिए मुख्यमंत्री श्री बघेल से चर्चा कर पाली महोत्सव के लिए शेड निर्माण पूर्ण करने का आश्वासन दिया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता राजस्व एवं आपदा प्रबंधन, पुनर्वास, वाणिज्यिक कर (पंजीयन एवं स्टाम्प) मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने की। राजस्व मंत्री ने सभी को महाशिवरात्रि की शुभकामनाएं देते हुए कहा की ऐतिहासिक नगर पाली में भव्य आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने कहा की पिछले चार वर्षो में प्रदेश का चहुंमुखी विकास हुआ है। जिससे प्रदेश में तरक्की और खुशहाली आई है। शासन द्वारा सभी वर्गो के विकास के लिए योजनाएं संचालित की जा रही है। किसानों का कर्ज माफ, 2500 रुपए क्विंटल में धान खरीदी, वनोपज की खरीदी जैसे कार्यों से प्रदेश की जनता आर्थिक उन्नति की ओर अग्रसर है।

कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में पाली तानाखार क्षेत्र के विधायक मोहितराम केरकेट्टा, कटघोरा विधायक पुरूषोत्तम कंवर, जिला पंचायत अध्यक्ष शिवकला कंवर, नगर निगम कोरबा के महापौर राजकिशोर प्रसाद, जनपद पंचायत पाली अध्यक्ष दुलेश्वरी सिदार, नगर पंचायत पाली अध्यक्ष उमेश चंद्रा, गौसेवा आयोग के सदस्य प्रशांत मिश्रा, राज्य श्रम कल्याण बोर्ड के सदस्य नवीन सिंह, राज्य मदरसा बोर्ड के सदस्य डाॅ. शेख इश्तियाक, कलेक्टर संजीव झा,अपर कलेक्टर विजेंद्र पाटले, प्रदीप साहू, जिला पंचायत सीईओ नूतन कंवर, नगर निगम आयुक्त प्रभाकर पांडे, एसडीएम पाली शिव बनर्जी सहित सरपंच ग्राम केराझरिया सत्यनारायण पैकरा एवं बड़ी संख्या में क्षेत्रवासी भी शामिल हुए।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मंत्री अमरजीत भगत ने कहा कि ऐसे आयोजनों से भक्तिपूर्ण माहौल के साथ लोक कलाकारों को भी बढ़ावा मिलता है। छत्तीसगढ़ सरकार ने छत्तीसढिया स्वाभिमान को बढ़ाया है। ऐसे आयोजन समाज में सकारात्मक प्रभाव डालते है। इन आयोजनों से स्थानीय कलाकारों को भी अपनी कला का प्रदर्शन करने का मौका मिलता है।

सांस्कृतिक कार्यक्रमों में झूमे दर्शकगण

पाली महोत्सव के पहले दिन आकर्षक सांस्कृतिक कार्यक्रमों ने दर्शकों को बांधे रखा। जबलपुर की आकर्षक शिव झांकी, रजी मोहम्मद के पियानो वादन, बिलासपुर की टीम द्वारा प्रस्तुत किए गए कठपुतली नृत्य देखकर दर्शक गण दांतो तले उंगली दबा लिए। इसी प्रकार बसंत बघेल की टीम द्वारा प्रस्तुत किए पंथी नृत्य ने भी लोगों को झूमने पर मजबूर कर दिया। इसके अलावा स्कूली बच्चों ने भी सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति दी।

    More articles

    - Advertisement -

      Latest article