Saturday, June 22, 2024

गुरू घासीदास जयंती के अवसर पर बतरा में जिला स्तरीय अस्पृश्यता निवारणार्थ सद्भावना शिविर का हुआ आयोजन

Must read

- Advertisement -

शिविर में विधायक श्री केरकेट्टा सहित कलेक्टर- एसपी भी हुए शामिल

अतिथियों ने एक साथ जमीन में बैठ कर भोजन ग्रहण कर एकता और भाईचारे का दिया संदेश

कोरबा :- 19 दिसंबर 2022,सतनाम पंथ के प्रवर्तक बाबा गुरू घासीदास की 266वीं जयंती के अवसर पर 18 दिसंबर को जनपद पंचायत पाली के ग्राम बतरा में जिला स्तरीय अस्पृश्यता निवारणार्थ सद्भावना शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में अस्पृश्यता निवारण की दिशा में हो रहे कार्यों तथा अनुसूचित जाति वर्ग के कल्याणार्थ संचालित कार्यक्रमों एवं योजनाओं की जानकारी दी गई।

इस अवसर पर पाली तानाखार विधायक मोहितराम केरकेट्टा, कलेक्टर संजीव झा एवं एसपी संतोष सिंह ने सतनाम प्रांगण में विधि-विधान से जैतखाम की पूजा की। साथ ही बाबा गुरू घासीदास के चित्र पर पुष्पंजलि अर्पित कर जन कल्याण के लिए आशीर्वाद मांगा। ग्राम बतरा के शासकीय शालाओं के बच्चो के द्वारा पंथी नृत्य, गान व विभिन्न प्रस्तुतियों ने मौजूद सभी दर्शको का मन मोह लिया। इसके पश्चात् समस्त ग्रामवासियों के साथ विधायक, कलेक्टर, एसपी सहित उपस्थित समस्त जनप्रतिनिधि, अधिकारी, कर्मचारियों ने जैतखाम माध्यमिक शाला बतरा में एक साथ जमीन पर बैठ कर भोजन ग्रहण कर समाज को एकता, भाईचारे तथा सामाजिक समरसता का संदेश दिया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि से रूप में उपस्थित विधायक केरकेट्टा ने लोगों को संबोधित करते हुए सामाजिक एकता का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि संत शिरोमणि गुरू घासीदास बाबा जी के शिक्षा और संदेश को अनुयायी जाति धर्म से परे होकर नमन कर रहें है। बाबा जी ने मनखे-मनखे एक समान के सिद्धांत को मानते हुए सर्व समाज को समान माना। अहिंसा और नशे से दूर रहने लोगों को शिक्षा दी। साथ ही उनकी शिक्षा से जनमानस में भेदभाव और नशा पान नहीं करने की जागरूकता आई।

इस अवसर पर कलेक्टर संजीव कुमार झा ने अपने उद्बोधन में कहा कि बाबा गुरू घासीदास ने वनांचल ग्रामीण क्षेत्र में रहते हुए गिरौधपुरी गांव से निकलकर मानव-मानव एक समान की शिक्षा जन-जन में प्रसारित की। उनके द्वारा की गयी समानता, अहिंसा, नशा मुक्ति की परिकल्पना महान सोच को दर्शाता है। सफेद रंग का ध्वज ही उस समरसता के संदेश का प्रतीक है।

इस अवसर पर अध्यक्ष जिला पंचायत शिवकला कंवर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत नूतन कंवर ,सहायक आयुक्त आदिवासी विकास माया वारियर, सांसद प्रतिनिधि एवं गौ सेवा आयोग सदस्य प्रशान्त मिश्रा, छग श्रम कल्याण बोर्ड सदस्य नवीन सिंह, जिला पंचायत सदस्य गणराज सिंह कंवर, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पाली मनोज खाण्डेय, उपाध्यक्ष जनपद पंचायत, सदस्य जनपद पंचायत, तहसीलदार तारा सिदार, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत पाली भुपेन्द्र कुमार सोनवानी, विकास खण्ड स्तरीय समस्त अधिकारी एवं सरपंच ग्राम पंचायत बतरा रामायण देवी सहित भारी संख्या में नागरिक गण मौजूद रहे।

कार्यक्रम में मंचस्थ जनप्रतिनिधियों द्वारा अपने उदबोधन में संत गुरू घासीदास के सतनाम पंथ के 07 दिव्य संदेश के माध्यम से जनमानस को जीवन का सार समझाया एवं सरलता से मानव समाज को मिल जुल के रहने का संदेश दिया। ग्राम- बतरा के अश्वनी रात्रे एवं साथियों के द्वारा गुरूबाबा हे महान गुरू घासीदास के संदेश को पहुचाने के लिए पंथी नृत्य की प्रस्तुति दी गई एवं राजन यादव एवं साथी रामायण मण्डली द्वारा पंथी लोक गीत गायन किया गया।

कार्यक्रम में मंचस्थ अतिथियों के द्वारा निबंध, वाद-विवाद, नृत्य आदि प्रतियोगिताओं में सफल छात्र-छात्राओं को पुरस्कार वितरण किया गया।

      More articles

      - Advertisement -

          Latest article