Saturday, June 22, 2024

जिले के गोठानों में मवेशियों के चारा उपलब्धता के लिए चलाए पैरादान अभियान :कलेक्टर संजीव झा

Must read

- Advertisement -

शिविर के माध्यम से स्कूली विद्यार्थियों के बनेंगे जाति प्रमाण पत्र

गोठानों में गोबर खरीदी और वर्मी कंपोस्ट निर्माण करें गंभीरता पूर्वक

कलेक्टर श्री झा ने समय सीमा की समीक्षा बैठक में दिए निर्देश

कोरबा :- 29 नवंबर 2022 ,जिले के गोठानों में मवेशियों के पर्याप्त चारे की उपलब्धता के लिए पैरा दान अभियान चलाया जाएगा। 100 क्विंटल से अधिक धान बिक्री करने वाले किसानों से पैरा दान के लिए सहमति ली जाएगी। साथ ही पशु हित और पर्यावरण संरक्षण के हित में पैरादान करने की अपील की जाएगी। समय सीमा की समीक्षा बैठक में कलेक्टर संजीव झा ने किसानों से पैरा दान करवाने की अपील करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि जिले के गोठानो में आगामी मई – जून माह तक पशुओं के चारे की समुचित व्यवस्था हेतु जिला में वृहद पैमाने पर पैरादान अभियान चलाया जाए। उन्होंने कहा कि पैरा को खेत में जलाने से पर्यावरण प्रदूषण होता है साथ ही पशुओं को चारा मिलने में भी परेशानी होती है। कलेक्टर ने कहा की पैरादान से गोठानो में पशुओं के लिए चारे की पर्याप्त व्यवस्था होगी। साथ ही पर्यावरण संरक्षण की दिशा में भी सार्थक कार्य साबित होगी। उन्होंने कहा कि जिला, जनपद एवं ग्राम पंचायत के जनप्रतिनिधि, अधिकारियों द्वारा किसानों को पैरादान की अपील करके पैरादान हेतु प्रेरित किया जाए। उन्होंने कहा कि गोठानो मे पैरा संग्रहण व्यवस्थित तरीके से पैरावट की तरह किया जाए ताकि लंबे समय तक मवेशियों के लिए उपयोगी हो।

समय सीमा की समीक्षा बैठक में अपर कलेक्टर विजेंद्र पाटले, जिला पंचायत सीईओ नूतन कंवर, डीएफओ कोरबा अरविंद पी, डीएफओ कटघोरा प्रेमलता यादव, संयुक्त कलेक्टर शिव बनर्जी, नगर निगम आयुक्त प्रभाकर पांडे सहित अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे।

कलेक्टर श्री झा ने बैठक में शिविर के माध्यम से स्कूली बच्चों के जाति प्रमाण पत्र बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने बीईओ, एबीईओ, सीएसी, शिक्षकगण और पटवारियों की संयुक्त टीम द्वारा अभियान चलाकर स्कूली बच्चों के जाति प्रमाण पत्र बनाने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री झा ने जाति प्रमाण पत्र बनाने से छूटे हुए बच्चों का स्कूल वार चिन्हांकन कर अधिकारी कर्मचारियों की ड्यूटी लगाने तथा जाति प्रमाण पत्र बनाने के कार्य को तेजी से पूर्ण करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा की जिले के कक्षा 6 वी से 12 वी तक के स्कूली छात्रों के जाति प्रमाण पत्र स्कूल स्तर पर बनाए जाएं तथा छात्रों को जाति प्रमाण पत्र स्कूल में ही वितरित किए जाएं। जिससे छात्रों को जाति प्रमाण पत्र बनवाने के लिए अनावश्यक कार्यालयों में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी और आसानी से स्कूल में ही जाति प्रमाण पत्र उपलब्ध हो जाएगी।

कलेक्टर श्री झा ने गोधन न्याय योजना की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए कि जिन गोठानो में पानी की कमी है वहां पर बोर के शीघ्र ही प्रस्ताव भेजे जाएं। उन्होंने निर्देश दिये कि गोठानो में क्रय गोबर से खाद का रूपांतरण 40 प्रतिशत से कम नहीं होना चाहिए। गोबर का सुरक्षित भण्डारण किया जाये। आवश्यकता अनुसार वर्मी टांका में केचुवा डाले। उन्होंने जनपद पंचायत के सीईओ को निर्देश दिये कि एक सप्ताह के भीतर गोठान प्रबंधन समिति की बैठक आयोजित की जाये जिसमें आय व्यय, गोबर खरीदी एवं वर्मी कंपोस्ट निर्माण आदि की चर्चा की जाये। कलेक्टर ने जिला मे धान खरीदी एवं बारदाना की उपलब्धता की जानकारी ली तथा किसानों को धान बेचने में किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं हो, यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने राजस्व मामलों की समीक्षा करते हुए तहसीलदार एवं अनुविभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि नामांतरण बंटवारा, सीमांकन के प्रकरण निश्चित समय सीमा में निराकृत किए जाये।

      More articles

      - Advertisement -

          Latest article