Friday, June 14, 2024

पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह के निर्देश पर चलाया गया विशेष अभियान, ऑपरेशन मुस्कान के अंतर्गत 20 परिवारों की लौटी खुशियां

Must read

- Advertisement -

20 नाबालिक बच्चों को सकुशल बरामद कर सौंपा गया परिजनों को

जम्मू कश्मीर , पुणे, गुजरात , हैदराबाद , अमृतसर से खोजकर लाया गया

कोरबा :- पुलिस अधीक्षक कोरबा संतोष सिंह के निर्देश पर गुम हुए बालक बालिकाओं के बरामदगी हेतु विगत दिनों 1 माह तक लगातार ऑपरेशन मुस्कान चलाया गया , अभियान के अंतर्गत एक माह में कुल 20 बालक/बालिकाओं को बरामद कर उनके परिजनों को सकुशल सौंपा गया अपने बच्चों को सकुशल वापस पाकर परिजनों की खुशियां लौट आई , गुम हुए बच्चों को सकुशल वापस पाकर परिवार वाले खुश हुए , वहीं बच्चों को सकुशल वापस लाने वाले पुलिसकर्मियों के प्रति अपना आभार भी प्रकट कर कोरबा पुलिस को धन्यवाद ज्ञापित किया है।

पुलिस अधीक्षक कोरबा संतोष सिंह के द्वारा विगत दिनों लंबित गुम इंसान प्रकरणों की समीक्षा कर गुम हुए बच्चों के बरामदगी हेतु विशेष अभियान आपरेशन मुस्कान चलाने के निर्देश दिए गए ।

संतोष सिंह से मिले निर्देश के पालन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कोरबा अभिषेक वर्मा के नेतृत्व, नगर पुलिस अधीक्षक दर्री रोबिनसन गुड़िया , नगर पुलिस अधीक्षक कोरबा विश्वदीपक त्रिपाठी एवं पुलिस अनुविभागीय अधिकारी कटघोरा ईश्वर त्रिवेदी के पर्यवेक्षण में सभी थाना चौकी प्रभारियों द्वारा अपने-अपने क्षेत्र से गुम हुए बालक बालिकाओं के तलाश हेतु विशेष अभियान चलाकर टीम भेजा गया । गुम बच्चों के मिलने के सभी संभावित स्थानों पर सघन खोज की गई , 1 माह तक लगातार चलाए गए अभियान में 20 बच्चों को बरामद करने में सफलता मिली,जिसमें जिनमें 16 बालिका एवं 04 बालकों को सकुशल बरामद कर परिजनों की सुपुर्द किया गया है ।

जम्मू कश्मीर , पुणे, गुजरात , हैदराबाद और अमृतसर से हुए बरामद

विशेष अभियान के तहत जब गुम बच्चों की तलाश शुरू की गई तो पुलिस टीम को कई प्रकार की दिक्कतों का सामना करना पड़ा ,कई मामलों में बच्चों ने ऐन वक्त पर अपना लोकेशन बदलकर तो कई बच्चों ने गलत पता बताकर , गुमराह कर पुलिस को छकाया । किंतु पुलिस टीम ने भी सुझबुझ, धैर्यता व दृढ़तापूर्वक कार्य कर बच्चों को बरामद किया , 15 बच्चों को छत्तीसगढ़ राज्य के विभिन्न जिलों से बरामद किया गया , वहीं 5 बच्चों को भारत के विभिन्न प्रांतो से बरामद करने में पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी ।

1 . थाना कटघोरा में माह जून 2022 में दर्ज गुम बालिका संजना (परिवर्तित नाम ) गुम थी , जिसका कहीं पता नहीं चल रहा था जिसे लगातार पतासाजी की जा रही थी । ज्ञात हुआ कि बालिका भटकते हुए जम्मू कश्मीर पहुंच गई थी जम्मू कश्मीर में उसका संपर्क खोज कर उसे दस्तयाब किया गया ।

2 . थाना बालको की गुम बालिका चांदनी (परिवर्तित नाम) जो माह जुलाई 2022 से अपने घर से बिना बताए चली गई थी जिसका पता नहीं चल रहा था जिसका पता लगाकर महाराष्ट्र के पुणे रेलवे स्टेशन से बरामद किया गया , उक्त बालिका का लोकेशन तमिलनाडु में आ रहा था जो लगातार अपना लोकेशन बदल रही थी और पुलिस के पहुंचने के पहले ही किसी दूसरे स्थान पर चली जाती थी । लगभग 15 दिवस तक विभिन्न स्थानों पर रुक कर बालिका का पता कर बरामद किया गया ।

3 . थाना बालको में ही दर्ज एक अन्य गुम बालिका इशिका (परिवर्तित) नाम जो कि जनवरी 2022 से अपने घर में बिना बताए चली गई थी , जिसे हैदराबाद से बरामद किया गया ।

4 . उरगा में मार्च 2022 में दर्ज गुम बालिका मधु (परिवर्तित नाम) जिसे काफी खोजबीन एवं मशक्कत के बाद गुजरात से बरामद किया गया ।

5 . थाना कोतवाली में दर्ज गुम 17 वर्षीय बालक आकाश(परिवर्तित नाम) जो सितंबर 2022 में घर में बिना बताए कही चला गया था , काफी समय बाद दिल्ली में होने का पता चला ,पुलिस टीम जब दिल्ली पहुंची तो बालक टीम को छकाते हुए दिल्ली के पहाड़गंज इलाके में होना बताकर एक दिन तक गुमराह किया और ट्रेन में सवार होकर अमृतसर चला गया और मोबाइल बंद कर दिया पुलिस टीम 6 तक दिल्ली और अमृतसर में सघन अभियान चलाकर बालक को खोज निकाला ।

    More articles

    - Advertisement -

      Latest article