Tuesday, June 25, 2024

महिला परिवार परामर्श केंद्र ने लौटाई 271 परिवारों की खुशियां

Must read

- Advertisement -

पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह के निर्देश पर चलाया जा रहा है विशेष काउंसलिंग अभियान

कोरबापति पत्नी के मध्य मामूली विवाद ,गलतफहमी एवं मनमुटाव के कारण बिखर रहे परिवारों को जोड़ने में कोरबा पुलिस ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है । वर्ष 2022 में महिला परिवार परामर्श केंद्र के प्रयास एवम पहल से कुल 291 परिवार पुनः पुनर्स्थापित होकर सुखी एवं दांपत्य जीवन व्यतीत कर रहे हैं ।

वर्ष 2022 में आपसी पारिवारिक कलह से अलग हो चुके 561 पीड़ित परिवारों ने परिवार परामर्श केंद्र कोरबा में आवेदन प्रस्तुत कर बिखर चुके परिवारों को पुनः जोड़ने का आग्रह करते हुए आवेदन प्रस्तुत किया था , महिला काउंसलर्स ने 271 मामलों मे काउंसलिंग कर बिखर रहे परिवारों में समझौता कराकर परिवारों को पुनर्स्थापित किया । सभी परिवार खुशहाल जीवन व्यतीत कर रहे हैं । 40 मामलों में दहेज प्रताड़ना एवं घरेलू हिंसा के प्रकरण पंजीबद्ध कराए गए 190 मामलों को न्यायालय में निराकरण हेतु प्रेषित किया गया है ।
पुलिस अधीक्षक कोरबा संतोष सिंह के द्वारा महिला परामर्श केंद्र में पदस्थ पुलिस अधिकारी कर्मचारी एवं समाजसेवी महिला काउंसलर्स का मीटिंग लेकर परामर्श केंद्र में प्राप्त होने वाले आवेदनों को गंभीरता एवं संवेदनशीलतापूर्वक जांच करते हुए पति-पत्नी के मध्य में चल रहे विवाद एवं मनमुटाव को दूर करने का हर संभव प्रयास कर परिवारों को जोड़ने की समझाइश दी गई है , पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह से प्राप्त निर्देश के अनुपालन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अभिषेक वर्मा के मार्गदर्शन में महिला परामर्श केंद्र कोरबा में पदस्थ अधिकारी कर्मचारियों के साथ-साथ सामाजिक संस्थाओं से जुड़ी हुई महिला काउंसलर के द्वारा अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन किया जा रहा है । परिवार परामर्श केंद्र में प्राप्त होने वाले मामलों में पाया गया है कि पति-पत्नी के मध्य छोटे घरेलू विवाद, पारिवारिक विवाद या अन्य छोटे-मोटे मुद्दों को लेकर हो रहा विवाद बड़ा रूप धारण कर लेता है जो अंततः परिवारों के टूटने का कारण बनता है , इन सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए महिला काउंसलर द्वारा पीड़ित परिवार के दोनों पक्षों को बुलाकर उनके बीच विवाद होने के कारणों को अच्छी तरह समझ कर उन्हें समझाइश दी जाती है और लगातार उन्हें परामर्श देकर ऑब्जरवेशन में रखा जाता है माह में एक बार परिवारों को बुलाकर वर्तमान स्थिति के बारे में जानकारी ली जाती है । इसका सुखद पहलू यह रहा कि लगभग 60% मामलों में पुलिस को बिखरे हुए परिवारों को वापस जोड़ने में सफलता मिली है । टूटे हुए परिवारों के परामर्श के दौरान पाया गया कि कुछ परिवारों में छोटे-मोटे लड़ाई झगड़े एवं मनमुटाव के कारण परिवार टूटने की नौबत आ गई थी , वही कुछ परिवारों में शराबखोरी , अवैध संबंध, दहेज की मांग या माता-पिता को परिवार से अलग रखने जैसे मुद्दों पर विवाद हो रहा था ।

1 . ग्राम नरई बोध निवासी श्रीमती सीता (परिवर्तित नाम ) का पति शराब पीकर गाली गलौज, मारपीट करता था जिससे परिवार टूटने की नौबत आ गई थी, जिसे महिला काउंसलर्स ने दोनों पक्षों को बुलाकर समझाइश दिया जिसमें पति शराब छोड़ने पर राजी हो गया और दोनों परिवार शांतिपूर्वक खुशहाल जीवन व्यतीत कर रहे हैं ।

2 . रानी रोड कोरबा निवासी ममता(परिवर्तित नाम) का पति जोकि सुपेला दुर्ग का निवासी है दहेज की मांग कर प्रताड़ित करने की शिकायत थी । दोनों पक्षों को बुलाकर महिला काउंसलर्स ने समझाइश दिया की दहेज सामाजिक बुराई और कानूनन अपराध है । कानून का भय दिखाकर समझाने पर पति समझौता करने को तैयार हो गया, वर्तमान में दोनों पति-पत्नी सुखमय दांपत्य जीवन व्यतीत कर रहे हैं ।

3 . जमनीपाली दर्री निवासी शबनम (परिवर्तित नाम) का पति शराब पीकर प्रताड़ित कर बिजनेस करने हेतु मायका से लोन निकालकर रकम देने बिजनेस करने के लिए रकम देने हेतु प्रताड़ित कर रहा था , जिसे समझाइस देने पर स्वयं के नाम पर लोन लेकर बिजनेस करने हेतु तैयार हुआ , बैंक से लोन स्वीकृत कराने में पुलिस द्वारा मदद की गई । वर्तमान में दोनों हंसी खुशी से जीवन व्यतीत कर रहे हैं ।

4 . मोहम्मद अमन अंसारी जो औरंगाबाद बिहार का निवासी है जिसकी पुत्री का विवाह पोड़ी बहार में हुआ है, जिसका दामाद 10 लाख रुपए लेकर आने हेतु पत्नी से विवाद कर प्रताड़ित कर रहा था , जिसे महिला काउंसलर के द्वारा समझाइश दिए जाने पर अपनी पत्नी के साथ समझौता कर सुखमय जीवन व्यतीत कर रहे हैं ।
5 . रामपुर आईटीआई कॉलोनी निवासी कुमारी (परिवर्तित नाम) का पति सांप पकड़ने का बहाना बनाकर रात को घर से बाहर रहता था, जिसका किसी दूसरी महिला से प्रेम संबंध था , जिसे महिला काउंसलर ने बुलाकर समझाया , तब वह अपनी पत्नी के साथ जीवन व्यतीत करने को तैयार हुआ और वर्तमान में दोनों परिवार पति पत्नी सुखी जीवन व्यतीत कर रहे हैं ।

      More articles

      - Advertisement -

          Latest article