Monday, June 17, 2024

एनटीपीसी कोरबा मान्यता के लिए यूनियन का चुनाव 12 अक्टूबर, को इंटक का दावा जीत सुनिश्चित

Must read

- Advertisement -

एनटीपीसी कोरबा में मान्यता के लिए यूनियन का चुनाव 12 अक्टूबर को,इंटक का दावा जीत सुनिश्चित


कोरबा:- एनटीपीसी कोरबा में मान्यता के यूनियन का चुनाव 12 अक्टूबर को होना है।ऐसे में इंटक के एनबीसी के केंद्रीय सेंट्रल लीडर माननीय बाबर सलीम पाशा सहित इंटक के राष्ट्रीय महामंत्री एवं प्रदेश अध्यक्ष पदाधिकारी यूनियन को मजबूत कर जीत दिलाने तीन दिवसीय कोरबा प्रवास पर है।


बता दें कि श्रमिक संघ एब्सोल्यूट मान्यता के लिए 60 फीसदी मत हासिल करना होता है।सार्वजनिक उपक्रम में केंद्रीय मान्यता प्राप्त यूनियन से कर्मचारियों की समस्याओं को लेकर वार्ता की जाती है। नियमतः कर्मचारियों का सर्वाधिक समर्थन वाली यूनियन ही अधिकृत होती है। एनटीपीसी में मान्यता के लिए यूनियन के मध्य चुनाव कराया जाता है। इनमें एनटीपीसी में तीन वर्ष के लिए चुनाव होता है। चुनाव की तिथि नजदीक आते ही श्रम संगठन प्रतिनिधि चुनाव की तैयारी में जुट गए हैं, इसलिए बैठकों का दौर शुरू हो गया है और मतदाता (कर्मचारी) को रिझाते हुए अपने साथ जोड़ने की कवायद कर रहे हैं। कल यानी 9 अक्टूबर को कल्याण मंडप में इंटक केंद्रीय एवं प्रदेश के पदाधिकारी अपने स्तर बैठक किया।
इसमें बाबर सलीम पाशा राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष फेडरेशन इंटक एवं एडिशनल सेंट्रल लीडर एनबीसी और संजय सिंह राष्ट्रीय महामंत्री एवं प्रदेश अध्यक्ष इंटक द्वारा कर्मचारियों प्रेरित करने आम सभा को संबोधित किया।

इंटक यूनियन की मंशा है कि इस बार किसी तरह जीत हासिल कर मान्यता हासिल करे। इंटक ने अपने कार्यकाल में कर्मियों के वेतन समझौता, 2016 डीटी बैच पे फिक्सेशन ,लैपटॉप फर्नीचर बायबैक पदोन्नाति, एक्सग्रेसिया समेत कई मुद्दे पर प्रबंधन से चर्चा कर कर्मचारियों को लाभ दिलाया।इंटक यूनियन को सिर्फ उम्मीद ही नहीं बल्कि विश्वास भी है कि कर्मचारी एक बार पुनः उन पर विश्वास जताएंगे। बताया जा रहा है कि चुनाव के वक्त पूर्ण बहुमत के लिए 60 फीसदी मत हासिल करने वाली यूनियन को मान्यता मिलेगी। इसके बाद 30 फीसदी मत प्राप्त करने वाली यूनियन के सदस्य को कमेटी में शामिल किया जाएगा। प्रबंधन के साथ वार्ता करने हेतु बनने वाली कमेटी में सर्वाधिक मत हासिल करने वाली यूनियन के सदस्य ज्यादा होंगे। उसके बाद कम मत प्राप्त करने वाली यूनियन के एक सदस्य को रखा जाएगा।

इंटक यूनियन के महासचिव एन के तिवारी ने सभी कर्मचारियों को आश्वस्त किया है की इंटक यूनियन हमेशा कर्मचारी हित में काम किया है आगे भी दुगनी ताकत से कर्मचारी हित में काम करेंग। इंटक के कार्यकारी अध्यक्ष के पी चंद्रवंशी ने कर्मचारियों को इंटक के प्रतिज्ञा पत्र को अक्षरतः पालन करने का भरोसा दिलाया । कर्मचारियों को यह भी आश्वस्त किया की इस बार पीआरपी के रूप में पिछले वर्ष से दो गुना पीआरपी दिलाने का भरोसा दिलाया। के पी चंद्रवंशी ने यह भी बताया की बीएमएस तीन साल कुंभकर्ण निंद्रा में सोया रहा ।पूरे तीन साल में कालोनी की व्यस्था चरमरा गई है श्रमिक skhikha प्रोग्राम बंद करा दिया गया है eps,95 pention ki समस्या,कोई समाधान नहीं करा पाना, सेफ्टी सु मिलना बंद हो गया है चांपा बस बंद पड़ी है मूवी बंद पड़ी है । बीएमएस के कार्यकाल में बंद पड़ी वयवस्था को इंटक यूनियन इन सारी व्यवस्था को तत्काल चालु कराएगी।इंटक ने जिस प्रकार से शिफ्ट जनरल की पंचिंग की समस्या का समाधान लिखित में लेकर करवाया है स्पीड ब्रेकर स्लोपिंग का काम करवाया है ।

      More articles

      - Advertisement -

          Latest article