Thursday, July 25, 2024

    मुख्यमंत्री श्री बघेल के पहल से अब गरीब घर के बच्चे भी अंग्रेजी स्कूल में निःशुल्क शिक्षा ले रहे हैं: संसदीय सचिव द्वारिका प्रसाद यादव

    Must read

    राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर एक दिवसीय राज्योत्सव कार्यक्रम का हुआ आयोजन

    विभिन्न विभागों द्वारा हितग्राहियों को किया गया सामग्री वितरण

    बिहान बाजार के माध्यम से लोगों को मिला छत्तीसगढ़ी सामानों और व्यंजनों का स्वाद

    सांस्कृतिक कार्यक्रमों से सजी रही शाम, स्थानीय कलाकारों की प्रस्तुति से देर शाम तक झूमे लोग

    कोरबा :- छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर एक नवंबर को जिला मुख्यालय कोरबा में एक दिवसीय राज्योत्सव का आयोजन किया गया। राज्योत्सव कार्यक्रम का आयोजन डॉ. भीमराव अम्बेडकर ओपन थियेटर घण्टाघर चौक कोरबा में किया गया। राज्योत्सव कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में संसदीय सचिव द्वारिकाधीश यादव शामिल हुए। उन्होंने विभागों द्वारा लगाए गए स्टालों का अवलोकन कर शासकीय योजनाओं से लाभान्वित हितग्राहियों को जनप्रतिनिधियों की मौजूदगी में सामग्रियों का वितरण किया। इस दौरान संसदीय सचिव श्री यादव ने विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ शासन के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जनहितकारी योजनाओं से राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के ग्राम स्वराज की परिकल्पना को साकार कर रहे हैं। उन्होंने कहा की मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की पहल से गरीब घर के बच्चे भी अब अंग्रेजी स्कूल में निःशुल्क शिक्षा प्राप्त कर रहे है। राज्य भर में इसके लिए स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल संचालित है। पहले गरीब घर के बच्चे केवल अंग्रेजी स्कूल के बोर्ड को दूर से देखते थे। अब पसान, पोंडी उपरोड़ा जैसे दूरस्थ इलाके के बच्चे भी आत्मानंद स्कूल से शिक्षा प्राप्त कर रहे है। शासन द्वारा भूमिहीन मजदूरों को सालाना सात हजार रूपये सालाना दी जा रही है। दीवाली के पहले राजीव गांधी न्याय योजना का पैसा दिए जाने से सबने अच्छे से दीवाली त्योहार मनाया। श्री यादव ने कहा की नरवा-गरवा-घुरूवा-बाड़ी कार्यक्रम में गांवो को सशक्त बनाकर नई पहचान दी है।
    छत्तीसगढ़ी संस्कृति, तीज-त्यौहार, परंपराओं को आगे बढ़ाने और उन्हें आने वाली पीढ़ी तक पहुंचाने के लिए भी सरकार ने योजनाएं बनाई है, कई सार्थक कदम उठाये हैं। उन्होंने कहा कि श्री बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ विकास का नया मॉडल पेश कर रहा हैं। राज्य शासन द्वारा किसानों और सभी वर्ग की लोगों की भलाई के लिए बहुत सारे लाभकारी योजनाएं लागू की गई है। शासकीय योजनाओं से लोगों को काफी लाभ भी मिल रहा है। श्री यादव ने कहा कि गौठानो में बनने वाले उत्पादों की पहुंच अब शहरों तक हो गई है। छत्तीसगढ़ के गौठानों में बने दीए दिल्ली तक में हाथों-हाथ बिक रहे हैं। लोगों की ईलाज की बेहतर सुविधा देने के लिए चलित अस्पताल और हाट-बाजार क्लीनिक भी तेजी से काम कर रहे हैं। श्री यादव ने राज्य स्थापना दिवस पर सभी कोरबा वासियों को बधाई और शुभकामनाएं भी दीं। राज्योत्सव कार्यक्रम में शासकीय योजनाओं को प्रदर्शित करने के लिए विभिन्न विभागों द्वारा स्टॉल लगाए गए। स्टॉल के माध्यम से शासकीय विभागों ने जनहितकारी योजनाओं की जानकारी लोगों तक पहुंचाई। कार्यक्रम के दौरान विभिन्न विभागों के हितग्राहियों को सामग्रियों का भी वितरण किया गया। जिले की स्वसहायता समूह की महिलाओं द्वारा स्थानीय स्तर पर बनाए गए उत्पाद हैण्डबैग, साबुन, डिर्जेन्ट, गमला, अगरबत्ती, फिनाइल, दोना-पत्तल आदि के बिक्री के लिए बिहान बाजार भी लगाया गया। बिहान बाजार में सभी उत्पादों को देखने और खरीदने के लिए भारी संख्या में लोग मौजूद रहे। राज्योत्सव कार्यक्रम के दौरान स्थानीय कलाकारों के दल ने सांस्कृतिक कार्यक्रम भी पेश किए। स्थानीय छत्तीसगढ़ी कार्यक्रम का आनंद लेने देर शाम तक लोग झूमते रहे। इस दौरान विशिष्ट अतिथि के रूप में मध्य क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं कटघोरा विधायक पुरूषोत्तम कंवर, अधोसंरचना एवं उन्नयन विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं पाली-तानाखार क्षेत्र के विधायक मोहितराम केरकेट्टा, नगर निगम कोरबा के महापौर राजकिशोर प्रसाद, जिला पंचायत अध्यक्ष शिवकला कंवर एवं जनपद पंचायत कोरबा अध्यक्ष हरेश कंवर, गौसेवा आयोग के सदस्य प्रशांत मिश्रा सहित जिला न्यायधीश डी एल कटकवार, अपर कलेक्टर विजेंद्र पाटले, पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह, जिला पंचायत सीईओ नूतन कंवर और बड़ी संख्या में नागरिकगण मौजूद रहे।

    किसान लच्छीराम को मिला ट्रैक्टर, हितग्राहियों को किया गया सामग्री वितरण

    एक दिवसीय राज्योत्सव कार्यक्रम के दौरान विभिन्न शासकीय विभागों द्वारा हितग्राहियों को हितग्राही मूलक कार्यों के लिए विभिन्न सामानों का वितरण किया गया। इस दौरान किसान श्री लच्छीराम सारथी को कृषि विभाग द्वारा ट्रैक्टर का वितरण किया गया। किसान को सात लाख 66 हजार रूपए के ट्रैक्टर में शासन की ओर से तीन लाख 83 हजार रूपए का अनुदान दिया गया है। विभागों द्वारा हितग्राहियों को सिलाई मशीन, राज मिस्त्री किट, वन अधिकार पट्टा, दवाई-बीज, सरसों मिनी किट एवं मछली पालन के लिए आईस बॉक्स, आवास आबंटन, चेक राशि, महाजाल आदि का वितरण किया गया। नगर निगम कोरबा द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना और मोर मकान मोर चिन्हारी अंतर्गत हितग्राहियों को आवास आबंटन, श्रम विभाग द्वारा हितग्राहियों को सिलाई मशीन, राज मिस्त्री किट एवं हितग्राहियों को राशि का वितरण किया गया। इसी प्रकार महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा हितग्राहियों को चेक राशि का वितरण किया गया।

    सांस्कृतिक कार्यक्रमों से सजी रही शाम, स्थानीय कलाकारों की प्रस्तुति से देर शाम तक झूमे लोग

    राज्योत्सव कार्यक्रम के दौरान शाम छह बजे से स्थानीय कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी गई। सांस्कृतिक कार्यक्रम का आनंद लेने के लिए भारी संख्या में लोग राज्योत्सव स्थल पर मौजूद रहे। स्थानीय कलाकारों की छत्तीसगढ़ी प्रस्तुति ने लोगों को देर शाम तक छत्तीसगढ़ी धुन पर थिरकने को मजबूर कर दिया। नृत्य और संगीत का आनंद लेते हुए लोग देर शाम तक झूमते रहे। इस दौरान छत्तीसगढ़ी नृत्य करमा, सुआ, ददरिया आदि की प्रस्तुति कलाकारो द्वारा दी गई।

    राज्योत्सव स्थल में सजा बिहान बाजार, छत्तीसगढ़ी व्यंजनों की स्वाद के लिए उमड़े लोग

    राज्योत्सव कार्यक्रम में बिहान बाजार भी सजा रहा। बिहान बाजार के माध्यम से स्थानीय स्वसहायता समूह की महिलाओं द्वारा बनाये गये उत्पादों को बिक्री के लिए रखा गया। राज्योत्सव कार्यक्रम में शामिल होने आए बड़े उत्साह के साथ महिला समूहों द्वारा बनाए उत्पादों का अवलोकन किया और खरीददारी भी की। बिहान बाजार में छत्तीसगढ़ी व्यंजनों से सजे स्टॉल भी लगाए गए। लोगों ने भारी संख्या में आकर महिला समूहों द्वारा बनाए जा रहे छत्तीसगढ़ी व्यंजन बड़ा, भजिया, अईरसा, ठेठरी, खुरमी, चीला आदि व्यंजनों का स्वाद लिया। महिला स्वसहायता समूहो द्वारा बनाए गए साबुन, फिनाइल, खिलौने, चप्पल, बांस की टोकरी, हैण्डबैग, कोसा साड़ी, कोसा शॉल, गोबर के दीए, मोमबत्ती आदि सामान बिहान बाजार में बिक्री के लिए उपलब्ध रहे। बिहान बाजार में जैविक पद्धति से उत्पादित किए गए जैविक ब्लैक राईस, रेड राईस एवं विभिन्न प्रकार के पतले चांवल भी बिक्री के लिए उपलब्ध रहे। बिहान बाजार पर देर शाम तक लोग खरीददारी के लिए जुटे रहे।

        More articles

        Latest article