Friday, June 14, 2024

प्रबंधन के लिखित आश्वासन के पश्चात ग्रामीणों ने किया धरना समाप्त

Must read

- Advertisement -

कोरबा :- छत्तीसगढ़ प्रदेश के कोरबा जिले को देश तथा विदेश में भी ऊर्जाधानी के जाना पहचाना जाता है। क्यूं की जिले में छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत संयंत्र,बालको, लैंको सहित महारत्न कंपनी एनटीपीसी संयंत्र स्थापित है और हजारों मेगावाट विद्युत उत्पादन कर देश के कोने कोने तक पहुंचा कर जिले का नाम रौशन कर रहे हैं। लेकिन जिले के आम जनता इन दिनों संयंत्रों से निकलने वाली फ्लाई एश के प्रदूषण से काफी परेशान है,परंतु प्रबंधन द्वारा आम जनता की समस्या को अनदेखी कर लोगों के स्वास्थ से खिलवाड़ कर रहे है।ग्राम वासियों के द्वारा बारम्बार प्रबंधन को लिखित अवगत कराने के बावजूद समस्या का कोई निराकरण नहीं किया जा रहा है।जिसके चलते ग्राम पंचायत नवागांव कला के झाबु, और मडवामौहा के प्रभावित ग्रामीणों द्वारा सरपंच के नेतृत्व में सीएसपीजीसीएल प्रबंधन के खिलाफ आंदोलन किया गया।

मालूम हो कि कोरबा जिले के पश्चिमी क्षेत्र में सीएसपीजीसीएल पावर संयंत्र स्थित है इससे उत्सर्जित राखड़ को एकत्रित करने हेतु 5 किलोमीटर दूर नवागांव, झाबु में राखड डैम निर्माण कराया गया है।
इस राखड डैम निर्माण में ग्राम पंचायत नवागांव कला के ग्रामीणों की भूमि अधिग्रहित की गई थी और उन्हें कई प्रकार के आश्वासन भी दिए गए थे।आश्वासन पूरे ना होने और प्रबंधन द्वारा ग्रामीणों की अनदेखी किए जाने से नाराज ग्रामीणों ने धरना पर बैठ गए।

ग्रामीण द्वारा किए जा धरना का संज्ञान लेते हुए कटघोरा विधायक पुरुषोत्तम कंवर द्वारा धरना स्थल पर सीएसपीजीसीएल जिम्मेदार अधिकारियों को वहां बुलाने निर्देशित किया गया।धरना स्थल पर मौजूद सीएसपीजीसीएल अन्य अधिकारियों द्वारा फोन कर मुख्य अभियंता को बुलाया गया।मौके पर पहुंचे मुख्य अभियंता कमलेश डोंगरे द्वारा विधायक कंवर की उपस्थिति में ग्रामीणों ने अपनी मांगे उनके सामने रखी की राखड डैम से निकाले जाने वाले सिनोसफेयर राख को ग्लोबल टेंडर कर बाहरी ठेकेदार को नहीं दिया जाय, ग्रामीणों को रोजगार के लिए प्रबंधन द्वारा बनाए गए ग्रामीण समितियों से वह कार्य कराया जाए, राखड डैम में होने वाले कार्यों में भू प्रभावित ग्रामीणों को प्राथमिकता दी जाएं,प्रतिमाह ग्रामीणों के स्वास्थ्य की जांच कराई जाए एवं राखड़ में प्रतिदिन पानी छिड़काव की व्यवस्था की जाए,प्रभावित ग्रामों में स्ट्रीट लाईट की व्यवस्था, एनटीपीसी की भांति प्रभावित ग्रामीणों को क्षतिपूर्ति राशि देने की बात कही गई। जिस पर सीएसपीजीसीएल के मुख्य अभियंता कमलेश डोंगरे द्वारा कुछ समस्या का समाधान दो माह के भीतर पूरा एवं कुछ मांगों को प्रबंधन से चर्चा कर निराकरण करने लिखित आश्वासन दिया।जिसके बाद ग्रामीणों द्वारा धरना समाप्त किया गया।


नवागांव कला ग्राम पंचायत के सरपंच अमिता कंवर और सीएसपीजीसीएल कोरबा पश्चिम के मुख्य अभियंता कमलेश डोंगरे ने क्या कहा देखें वीडियो

    More articles

    - Advertisement -

      Latest article