Saturday, June 22, 2024

कलेक्टर संजीव झा ने कर्मचारी हित में लिया बड़ा फैसला, सार्वजनिक उपक्रमों के आवास में रहने की मिलेगी सुविधा

Must read

- Advertisement -

अधिकारी-कर्मचारियों को सेवा निवृत्ति के समय मिलेगा प्रशस्ति पत्र

शासकीय सेवकों का बनेगा विभागीय पहचान पत्र, स्वास्थ्य जांच के लिए लगेंगे कैंप

विभागीय कौशल परीक्षा भी होगी आयोजित, पदोन्नति-क्रमोन्नति में होगी सहुलियत

कोरबा :- 15 दिसम्बर 2022,जिले में पदस्थ शासकीय सेवकों के लिए आवास आबंटन की समस्याओं और आवास अनुपलब्धता की परेशानी को दूर करने के लिए कलेक्टर संजीव झा ने जिले के अधिकारी-कर्मचारियों के हित में बड़ा फैसला लिया है। सार्वजनिक क्षेत्र की इकाईयों के नजदीक पदस्थ शासकीय सेवकों को सार्वजनिक उपक्रमों के खाली आवास आबंटित किये जायेंगे। दूरस्थ क्षेत्रों के लिए संबंधित एसडीएम और कोरबा क्षेत्र के लिए अपर कलेक्टर और एसडीएम कोरबा शासकीय सेवकों को आवास का आबंटन करने सार्वजनिक क्षेत्र की इकाईयों को निर्देशित कर सकेंगे। कर्मचारी हित में लिए इस निर्णय पर अधिकारी- कर्मचारियों ने कलेक्टर श्री झा का आभार जताया। कलेक्टर श्री झा की अध्यक्षता में कलेक्टोरेट सभा कक्ष में आज संयुक्त विभागीय परामर्शदात्री समिति की बैठक आयोजित हुई। बैठक में शिक्षा, स्वास्थ्य, वन और राजस्व विभागों के अधिकारी- कर्मचारी संगठन के सदस्यगण शामिल हुए। बैठक में संगठनों के सदस्यों ने सेवा से संबंधित विभिन्न समस्याओं, सुझावों और मार्गदर्शन हेतु कलेक्टर श्री झा के समक्ष अपने सुझाव रखे। कलेक्टर श्री झा ने सदस्यों की सुझावों और समस्याओं को गंभीरता पूर्वक सुनने के पश्चात् निराकरण के लिए आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश बैठक में मौजूद अधिकारियों को दिए। बैठक के दौरान कलेक्टर श्री झा ने कहा कि संवेदनशीलता के साथ अपने शासकीय दायित्वों का निर्वहन की जाए। अधिकारी-कर्मचारियों की जनता के प्रति किये जाने वाले अच्छे कार्यों से ही शासन की छवि बनती है। उन्होंने मौजूद शासकीय सेवकों को नागरिकों को शासकीय योजनाओं से लाभान्वित करने के लिए निष्ठा पूर्वक शासकीय दायित्वों का निर्वहन करने को कहा। बैठक में कलेक्टर श्री झा ने अधिकारी-कर्मचारियों के स्वास्थ्य जांच के लिए हेल्थ कैम्प लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को इसके लिए जरूरी कार्ययोजना बनाने को कहा। कैम्प में शुगर, बीपी और अन्य स्वास्थ्य जांच तथा जरूरी परामर्श विशेषज्ञ डॉक्टरों द्वारा दी जायेगी। बैठक में अपर कलेक्टर विजेंद्र पाटले, संयुक्त कलेक्टर शिव बनर्जी, जिला शिक्षा अधिकारी जी. पी. भारद्वाज, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग श्रीमती माया वॉरियर सहित अन्य अधिकारी और परामर्शदात्री समिति के सदस्यगण मौजूद रहे।

परामर्शदात्री समिति की बैठक में कलेक्टर श्री झा ने सभी विभागीय प्रमुखों को अपने अधिकारी-कर्मचारियों का पहचान पत्र जारी करने के निर्देश दिये। साथ ही शासकीय सेवकों के रिटायरमेंट के समय कार्यालयीन कार्यवाही में विलंब की स्थिति निर्मित न हो इसके लिए सेवानिवृत्ति के तीन-चार माह पहले ही आवश्यक प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश दिए। जिससे कर्मचारी को रिटायरमेंट के समय कोई परेशानी न हो।


कलेक्टर श्री झा ने सभी अधिकारी-कर्मचारियों को रिटायरमेंट के समय विभागीय प्रशस्ति पत्र भी प्रदान करने के निर्देश दिये। इसके लिए जरूरी फॉर्मेट बनाने और निर्देश का पालन सुनिश्चित करने आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए। बैठक में कलेक्टर ने अभी तक विभागीय कौशल परीक्षा से वंचित अधिकारी कर्मचारियों के कौशल परीक्षा आयोजित करने के भी निर्देश दिए। जिससे पदोन्नति और क्रमोन्नति में आसानी हो। साथ ही सभी कार्यालयों में सेवा पुस्तिका नियमित तौर पर अद्यतन करने के भी निर्देश दिए। इसके लिए जिला स्तर पर वर्कशॉप भी आयोजित करने को कहा। वर्कशॉप में स्थापना शाखा के लिपिकों को शामिल कर टीडीएस फॉर्म 16 और सर्विस बुक अद्यतन करने की जानकारी दी जायेगी। वर्कशॉप के लिए जरूरी प्लानिंग करने के निर्देश जिला कोषालय अधिकारी को दिए।

      More articles

      - Advertisement -

          Latest article