Friday, July 26, 2024

    राष्ट्रीय नृत्य संगीत प्रतियोगिता (निनाद )में कोरबा की नन्हीं ईशिता ने प्रथम स्थान हासिल कर प्रदेश का नाम किया रौशन

    Must read

    संगीत कला केंद्र आगरा ने किया था आयोजन


    छत्तीसगढ़,कोरबा :- विगत दिनों देश के प्रतिष्ठित संस्था ‘संगीत कला केंद्र आगरा, पंडित रघुनाथ तालेगांवकर फाउंडेशन ट्रस्ट आगरा ‘के तत्वावधान में महर्षि पंडित विष्णु दिगंबर पलुस्कर जी की पुण्य स्मृति में अखिल भारतीय 58वी संगीत प्रतियोगिता (निनाद) का आयोजन किया गया । जिसमें कोरबा जिले की नन्हीं बालिका इशिता कश्यप ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर प्रथम स्थान हासिल करते हुए एक बार फिर अपनी संस्था ‘सुरताल संगीत कला केंद्र बालको ‘ के साथ-साथ पूरे जिले को गौरवान्वित किया है, 5 नवंबर से 27 नवम्बर 2022 तक 23 दिनों तक चलने वाली इस प्रतियोगिता में देश की जानी मानी 21 संगीत केंद्रों के साथ साथ टैक्सास, कैलिफोर्निया एवं न्यू जर्सी जैसे देशों के भी संगीत प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया । इस प्रतियोगिता में कत्थक नृत्य के साथ साथ शास्त्रीय गायन, तबला वादन, स्वर वाद्य वादन, भजन गायन, लोक गायन,, भरतनाट्यम एवं लोक नृत्य को भी आयोजन किया गया था ,जिसमें इशिता कश्यप ने कथक नृत्य किशोर वर्ग(10से 15वर्ष) में भाग लेकर प्रथम स्थान हासिल किया है। इससे पहले भी नन्ही बालिका ने अनेकों राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेकर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा चुकी है । विगत दिनों दुबई UAE अंतर्राष्ट्रीय नृत्य प्रतियोगिता में प्रथम स्थान (गोल्ड मेडल) प्राप्त की थी। बालिका की इस उपलब्धि से सहपाठियों एवं अन्य बच्चों के बीच प्रेरणा बिंदु बनी हुई है ।ज्ञात हो कि इशिता कश्यप केंद्रीय विद्यालय क्रमांक 2 एन टी पी सी कोरबा मेंकक्षा 4 में अध्ययन रत है, महज 10 वर्ष की उम्र में इशिता की इस उपलब्धि से संगीत गुरुओं एवं विशेषज्ञों ने खुशी जाहिर करते हुए बधाई प्रेषित किया है ।इशिता अभी आने वाले 4 जनवरी से मलेशिया में आयोजित होने वाली अंतर्राष्ट्रीय नृत्य प्रतियोगिता की तैयारी में लगी हुई है। ईशिता विगत पांच वर्षों से ख्याति लब्ध तबला वादक एवं नृत्य गुरु श्री मोरध्वज वैष्णव जी से कत्थक नृत्य संगीत की नियमित शिक्षा ले रही है बालिका के पिता रघुनंदन कश्यप (शिक्षक ) एवम माता अनिता कश्यप इस उपलब्धि के पीछे योग्य गुरु का सानिध्य एवं बालिका के लगन एवम मेहनत को श्रेय दे रहे है जिनके उचित मार्गदर्शन में चलकर सफलता मिली है। इशिता के लगातार सफलता से उनके गुरु ,विद्यालय के शिक्षक,माता पिता एवं सगे संबंधियों में उत्साह का माहौल है सभी ने बधाई देते हुए उज्जवल भविष्य की कामना की है।

        More articles

        Latest article