Saturday, June 22, 2024

विश्व श्रवण दिवस के अवसर पर 03 से 10मार्च तक कर्ण जांच शिविर का होगा आयोजन

Must read

- Advertisement -

सभी सरकारी अस्पतालों में चलेगा कर्ण स्क्रीनिंग एवं जागरूकता अभियान

कोरबा 02 मार्च 2023 :- जिले में ‘इयर एण्ड हियरिंग केयर फॉर ऑल, लेट्स मेक ऑफ रिएलिटी’ थीम पर विश्व श्रवण दिवस वर्ल्ड हियरिंग डे 03 से 10 मार्च तक मनाया जाएगा। इस वर्ष कर्ण संबंधी समस्यायें एवं बधिरता से बचाव के संबंध मे जनसमुदाय मे जागरूकता लाते हुए कर्ण संबंधी स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी देने के लिये लोगों को प्रोत्साहित किया जाएगा। इस हेतु समस्त शासकीय स्वास्थ्य केन्द्रों मे निःशुल्क जागरूकता शिविर का आयोजन किया जाएगा। शिविर में जनसमुदायों को कर्ण से संबंधी जांच और इलाज की सुविधा मिलेगी।

विश्व श्रवण दिवस पर मेडिकल कॉलेज सह जिला अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों, शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों तथा उपस्वास्थ्य केन्द्रों (हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर) में 03 मार्च से 10 मार्च तक कर्ण स्क्रीनिंग कैम्प तथा जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। जनसमुदाय को कर्ण संबंधी प्राथमिक जानकारी, कर्ण की देखभाल संबंधी जानकारी दी जाएगी। कर्ण रोग से पीड़ित मरीजो का प्राथमिक स्तर पर स्क्रीनिंग कर उपचार मुहैया कराया जाएगा। जिला चिकित्सालय मे श्रवण जांच कक्ष क्रमांक-113 मेऑडियोलॉजिस्ट यूनिट द्वारा सभी मरीजों का निःशुल्क ऑडियोमैट्री जांच तथा नवजात शिशुओं का ओएई जांच किया जावेगा। समाज कल्याण विभाग के समन्वय से जरूरतमदों को सुनने की मशीन (हियरिंग उपकरण) प्रदान किया जावेगा।


सीएमएचओ डॉ. एस.एन. केसरी ने जिले के नागरिकों से अपील किया गया है कि अगर किसी को सुनने मे दिक्कत हो रही है या कान मे तकलीफ होता है तो हल्के मे न लेवें, तुरंत जांच कराएं। उचित समय पर कम उम्र के बच्चों के कर्णरोग (बहरापन) का इलाज किया जा सकता है। बच्चो मे कर्ण संबंधी पूर्णतः न सुनाई देने की स्थिति मे यदि कर्ण उपकरण कॉक्लियर इंम्प्लांट की आवष्कयता होने पर मुख्यमंत्री विशेष सहायता योजना के अंतर्गत निःशुल्क की सुविधा उपलब्ध करायी जायेगी। उन्होने बताया कि बहरेपन और कानों से जुड़ी समस्या से बचने के लिये सबसे पहले जरूरी है कि ऊंची आवाज मे म्युजिक न सुना जावे तथा हेडफोन का उपयोग कम करें। उचित समय पर कम उम्र के बच्चों का ईलाज कर उनका बहरापन या कर्ण से संबंधित तकलीफ दूर किया जा सकता है।

      More articles

      - Advertisement -

          Latest article