Friday, June 14, 2024

साहित्य गौरव सम्मान से नवाजी गईं ख्यातिनाम कवयित्री डॉ. मंजुला साहू ‘निर्भीक’

Must read

- Advertisement -

साहित्यिक सेवा समिति ने 400 घंटे चले ऑनलाइन वर्चुअल कवि सम्मेलन-2022 में किया सम्मानित

कोरबा :- बुलंदी साहित्यिक सेवा समिति पंजीकृत (अंतरराष्ट्रीय), बाज़पुर (उत्तराखंड) संस्था के तत्वावधान में 21 अगस्त से 6 सितंबर तक ऑनलाइन वर्चुअल कवि सम्मेलन-2022 का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में विश्व के 35 देशों के कलमकारों सहित 3970 प्रतिभागियो ने काव्य पाठ किया। इस कवि सम्मेलन को इंडिया वर्ल्ड रिकॉर्ड में विश्व के सबसे बड़े वर्चुअल 400 घण्टे अनवरत चलने वाले कवि सम्मेलन के रूप में दर्ज किया गया। सम्मेलन में कोरबा व छत्तीसगढ़ की ख्यातिनाम कवयित्री डॉ. मंजुला साहू “निर्भीक ” ने भी सहभागिता दर्ज कराते हुए स्वलिखित काव्य की प्रभावशाली प्रस्तुति और अपने मन की भावनाओं को पंक्तियों में पिरोकर सुंदरता से पेश किया। इस विशेष अवसर पर हिंदी साहित्य को समृद्ध करने में अपने लेखन के माध्यम से उत्कृष्ट अवदान करने के लिए डा मंजुला को साहित्य गौरव सम्मान प्रदान करते हुए इस अंतर्राष्ट्रीय मंच ने स्वयं गौरव की अनुभूति कर कोरबा व छत्तीसगढ़ को गौरवान्वित होने का अवसर दिया है। डा मंजुला को मिले इस सम्मान से जिले के काव्य प्रेमियों समेत साहित्य जगत में हर्ष की लहर है। बुलंदी कार्यक्रम के मुख्य आकर्षण रहे बुलंदी साहित्यिक सेवा समिति के विवेक बादल बाज़पुटी संस्थापक, पंकज शर्मा संरक्षक, मातृका बहुगुणा राष्ट्रीय सचिव, राकेश शर्मा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने डा मंजुला साहू ‘निर्भीक’ की प्रस्तुति पर हर्ष व्यक्त करते हुए उज्ज्वल भविष्य की कामना की है।

    More articles

    - Advertisement -

      Latest article