Saturday, June 22, 2024

जिले के सभी आश्रम-छात्रावासों में स्वसहायता समूह करेंगी राशन सामग्री की आपूर्ति, समूहों को मिलेगा स्वरोजगार

Must read

- Advertisement -

किसानों के ई-केवाईसी के कार्यों को तेजी से करें पूर्ण: कलेक्टर श्री झा

गौठानों में पैरा को सुव्यवस्थित रखें, पेंशन वितरण की उचित मॉनिटरिंग की जाए

कलेक्टर संजीव झा ने समय सीमा की समीक्षा बैठक में दिये निर्देश

कोरबा :- 20 दिसंबर 2022, जिले के सभी आश्रम-छात्रावासों में स्वसहायता समूह के माध्यम से राशन सामानों की आपूर्ति होगी। आश्रम-छात्रावासों में चांवल, मसाला, साबुन, फिनायल, दाल आदि सामानों की आपूर्ति समूह के माध्यम से की जायेगी इससे स्वसहायता समूह की महिलाओं को रोजगार मिलेगा। कलेक्टर संजीव झा ने समय सीमा की समीक्षा बैठक में सभा आश्रम-छात्रावासों को राशन सामग्री आपूर्ति के लिए स्वसहायता समूह से लिंकअप करने के निर्देश दिये। उन्होंने एक सप्ताह के भीतर इस कार्य को पूर्ण करने के निर्देश एनआरएलएम के जिला प्रबंधक को दिये।

कलेक्टर संजीव झा ने समय सीमा की समीक्षा बैठक में किसानों के लंबित ई-केवाईसी कार्य को तेजी से पूर्ण करने के निर्देश दिये। साथ ही लैण्ड सीडिंग एवं आधार सीडिंग के भी कार्यों को पूर्ण करने के निर्देश दिये। कलेक्टर श्री झा ने कहा कि जिले के किसानों के ई-केवाईसी तथा आधार सीडिंग को पूर्ण किया जाये। ताकि किसानों को योजनाओं का लाभ मिल सके। उन्होंने केवाईसी के कार्यों को प्राथमिकता में लेते हुए तकनीकी दिक्कतों को दूर कर ई-केवाईसी करने के निर्देश दिये। कलेक्टर श्री झा ने समाज कल्याण विभाग को निर्देशित किया कि जिले के पेंशन धारकों का भौतिक सत्यापन ग्राम पंचायत सचिवों के माध्यम से करायें ताकि पात्र हितग्राहियों को योजनाओं का लाभ मिल सके। उन्होंने पेंशन से वंचित हितग्राहियों की सूची का भौतिक सत्यापन करके उनके खाते में पेंशन की राशि दिलाना सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। उन्होंने मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत को निर्देश दिये कि ग्रामीणों को समय पर पेंशन वितरण करने के लिए उचित मॉनिटरिंग की जाये। समय सीमा की समीक्षा बैठक में अपर कलेक्टर विजेंद्र पाटले, जिला पंचायत के सीईओ नूतन कंवर, नगर निगम के आयुक्त प्रभाकर पाण्डेय, संयुक्त कलेक्टर शिव बनर्जी सहित अनुविभागों के एसडीएम और अन्य विभागों के अधिकारीगण मौजूद रहे।

कलेक्टर श्री झा ने बैठक में जिले में यातायात व्यवस्था को दुरूस्त करने के लिए एवं दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिए सड़कों पर आवश्यकतानुसार स्पीड ब्रेकर बनाये जायें तथा आवश्यक रोड संकेतक लगाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि संकेतकों में रेडियम का उपयोग अनिवार्यतः किया जाये, ताकि संकेतक रात्रि में भी दूर से देखे जा सकें। कलेक्टर ने गोपालपुर से सीपेट तक की मार्ग में जगह-जगह हुए गड्ढों को भरवाकर पेंचवर्क करके यातायात के लायक बनाने के निर्देश दिये। उन्होंने वनमण्डलाधिकारी को निर्देश दिये कि ग्रामीण क्षेत्रों में हाथी से हुई जनहानि-धनहानि के उचित मुआवजे के लिए शिविर आयोजित करके मुआवजा वितरित किया जाये। कलेक्टर श्री झा ने गोधन न्याय योजना की समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि नये वर्मी टांका निर्माण, चारागाह निर्माण शीघ्र पूर्ण किये जायें। गोबर को अस्थायी शेड बनाकर सुरक्षित संधारण किया जाये। वर्मी टांकों में केंचुओं की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की जाये। क्रय गोबर का खाद रूपांतरण 40 प्रतिशत से कम न रहे। स्वसहायता समूह की महिलाओं को सक्रिय करने एवं प्रेरित करने के लिए गौठानों में बैठक की जाये। पैरादान के तहत गौठानों में पैरा को सुव्यस्थित पैरावट में रखा जाये। बड़े किसानों से पैरादान हेतु सहमति पत्र भरवायें जायें। कलेक्टर ने जिले में अब तक हुई धान खरीदी एवं बारदानें की उपलब्धता की जानकारी ली।

कलेक्टर श्री झा ने बैठक में जनपद पंचायत करतला एवं पोड़ीउपरोड़ा में निर्माणाधीन स्वामी आत्मानंद स्कूल को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिये। स्कूली छात्रों के जाति प्रमाण पत्र बनाने की प्रगति की जानकारी लेते हुए उन्होंने निर्देश दिये कि शीघ्र जाति प्रमाण पत्र के फॉर्म भरवाकर 31 दिसंबर तक अनिवार्यतः अपलोड किये जायें। विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी सर्व जाति प्रमाण पत्र का कार्य निश्चित समयावधि पूर्ण करने के लिए कार्ययोजना बनाकर कार्य करें। उन्होंने नामांतरण, फौती, बंटवारा आदि लंबित राजस्व प्रकरणों की समीक्षा करते हुए इन्हें शीघ्र ही निराकृत करने के निर्देश तहसीलदार एवं अनुविभागीय अधिकारी को दिये।

      More articles

      - Advertisement -

          Latest article