Tuesday, June 25, 2024

जिले में समर्थन मूल्य पर मूंग,उड़द की खरीदी 17 अक्टूबर से होगी प्रारंभ 16 दिसंबर तक की जाएगी खरीदी

Must read

- Advertisement -


जिले में समर्थन मूल्य पर मूंग, उड़द की खरीदी 17 अक्टूबर से होगी प्रारंभ, 16 दिसंबर तक की जाएगी खरीदी

उड़द की छह हजार 600 रुपए और मूंग की सात हजार 755 रुपए समर्थन मूल्य पर होगी खरीदी

अरहर की छह हजार 600 रुपए में खरीदी आगामी 13 मार्च से 12 मई तक की जाएगी

कोरबा :- 14 अक्टूबर 2022/जिले में उड़द और मूंग की समर्थन मूल्य पर खरीदी 17 अक्टूबर से 16 दिसंबर 2022 तक की जाएगी। अरहर की खरीदी आगामी 13 मार्च से 12 मई तक की जाएगी। कलेक्टर संजीव झा के मार्गदर्शन में जिला प्रशासन द्वारा उड़द और मूंग की खरीदी करने के लिए पूरी तैयारी की जा रही है। उड़द के लिए छह हजार 600 रुपए और मूंग के लिए सात हजार 755 रुपए समर्थन मूल्य तय किया गया है। अरहर की खरीदी छह हजार 600 समर्थन मूल्य पर की जाएगी। जिला प्रशासन के सहयोग से खरीफ विपणन वर्ष 2022-23 में जिले में शासन ने दलहन उपार्जन हेतु समर्थन मूल्य निर्धारित किया है, जिसके लिए किसानों से समर्थन मूल्य पर उड़द एवं मूंग की खरीदी को लेकर तैयारी की जा रही हैं । इस योजना अंतर्गत निर्धारित समय-सीमा में पंजीकृत किसानों से अरहर, उड़द एवं मूंग फसल को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी विपणन संघ मर्यादित (मार्कफेड) द्वारा उपार्जन किया जायेगा। जिलें में उडद मूंग की खरीदी छ.ग. स्टेट वेयर हाउस गोदाम, इंडस्ट्रियल एरिया, रजगामार रोड , कोरबा में किया जाएगा। जिलें के समस्त पंजीकृत किसानों को कृषि विभाग के द्वारा कृषि विस्तार अधिकारियों के माध्यम से उपार्जन केन्द्र तक ले जाने की व्यवस्था की गई है। जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में खरीदी कार्यक्रम का शुभारंभ किया जाएगा।
उप संचालक कृषि अनिल शुक्ला ने बताया की जिलें में अब तक अरहर फसल के लिए एक हजार 680 किसान, मूंग के लिए 6 किसान और उडद फसल के लिए 712 किसानों ने पंजीयन कराया है। कृषि विभाग द्वारा उडद ,मूंग का विक्रय करने एवं राजीव गांधी किसान न्याय योजना का लाभ लेने हेतु सभी किसानों को एकीकृत पोर्टल में अधिक से अधिक पंजीयन कराने की अपील की जा रही है। ऐसे सभी किसान जिन्होंने अरहर, उड़द एवं मूंग फसल के लिये एकीकृत पोर्टल में अपना पंजीयन कराया है, वे सभी दलहन उपार्जन एवं राजीव गांधी योजनांतर्गत आदान सामग्री हेतु प्रदाय राशि के लिए भी पंजीकृत होगें। फसल उत्पादन को प्रोेत्साहित करने हेतु शासन द्वारा कृषकों के हित में राजीव गांधी किसान न्याय योजना का संचालन किया जा रहा है। राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत धान के साथ अन्य फसल (दलहन, तिलहन, सुगंधित धान, उद्यानिकी फसल) लगाने पर प्रति एकड़ 9 हजार एवं फसल परिवर्तन कर धान के बदले अन्य फसल लगाने पर प्रति एकड़ 10 हजार रूपये मिलेगें।

      More articles

      - Advertisement -

          Latest article