Tuesday, June 25, 2024

आधिपत्य वाले क्षेत्रों में बेहतर सफाई व्यवस्था व अपशिष्ट प्रबंधन सुनिश्चित करें सार्वजनिक व औद्योगिक प्रतिष्ठान – आयुक्त

Must read

- Advertisement -

आयुक्त प्रभाकर पाण्डेय ने निगम क्षेत्र के सार्वजनिक प्रतिष्ठानों की बैठक लेकर सफाई व्यवस्था की समीक्षा की

आवासीय कालोनियों, आधिपत्य क्षेंत्रों में बिखरी गंदगी पर व्यक्त की अप्रसन्नता, कहा-सुधारे सफाई व्यवस्था

कोरबा :- 30 दिसम्बर 2022,आयुक्त प्रभाकर पाण्डेय ने सार्वजनिक व औद्योगिक प्रतिष्ठानों से कहा है कि वे अपने आधिपत्य क्षेत्रों, आवासीय कालोनियों की सफाई व्यवस्था एवं अपशिष्ट का बेहतर प्रबंधन सुनिश्चित कराएं, कालोनियों के शत प्रतिशत घरों से डोर-टू-डोर अपशिष्ट संग्रहण हों, एस.एल.आर.एम.सेंटर्स की व्यवस्थाएं चुस्त-दुरूस्त करें, कचरे की प्रोसेसिंग, कम्पोस्टिंग व सूखे कचरे का उचित समापन किया जाए, इस दिशा में ठोस कदम उठाएं। स्वीपिंग, नाली सफाई, कचरे का तुरंत उठाव आदि पर फोकस करें, यदि संबंधित ठेकेदार कार्य में लापरवाही बरतता है तो उस पर अर्थदण्ड लगाएं तथा कड़ी कार्यवाही करें।

आयुक्त प्रभाकर पाण्डेय ने आज नगर पालिक निगम कोरबा के मुख्य प्रशासनिक भवन साकेत में एस.ई.सी.एल., एन.टी.पी.सी., सी.एस.ई.बी. व बालको प्रबंधन के अधिकारियों की बैठक लेकर प्रतिष्ठानों के आधिपत्य क्षेत्रों की सफाई व्यवस्था व स्वच्छता कार्यो की प्रतिष्ठानवार विस्तार से समीक्षा की। उन्होने प्रतिष्ठानों के आधिपत्य क्षेत्रों में लचर सफाई व्यवस्था पर अप्रसन्नता व्यक्त करते हुए व्यवस्था को दुरूस्त करने के निर्देश दिए, आयुक्त श्री पाण्डेय ने अधिकारियों से कहा कि भ्रमण के दौरान यह पाया जाता है कि आपके क्षेत्रों में जगह-जगह पर कचरा डम्प रहता है, डोर-टू-डोर अपशिष्ट संग्रहण का कार्य ठीक ढंग से नहीं हो रहा, रोड स्वीपिंग व नाली सफाई का मैकेनिज्म ठीक नहीं है, एस.एल.आर.एम.सेंटरों की व्यवस्थाओं पर ध्यान नहीं दिया जा रहा, गीले कचरे से कम्पोस्ट बनाने, कचरा पृथकीकरण व अपशिष्ट प्रबंधन के प्रति उदासीनता दिखाई दे रही है, जो शहर स्वच्छता की दृष्टिकोण से बिल्कुल उचित नहीं है। उन्होने प्रतिष्ठानों विशेषकर एस.ई.सी.एल., सी.एस.ई.बी. व बालको प्रबंधन से कहा कि अपनी आवासीय कालोनियों में शतप्रतिशत घरों में डोर-टू-डोर अपशिष्ट का संग्रहण कराएं, कचरे का स्त्रोत पृथकीकरण व प्रोसेसिंग के साथ-साथ कचरे के बाय-प्रोडेक्ट का सुनिश्चित प्रबंधन भी सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि एस.एल.आर.एम.सेंटर तो बना लिए गए हैं किन्तु वहॉं की व्यवस्थाओं पर ध्यान नहीं दिया जा रहा, गीले कचरे की कम्पोस्टिंग नहीं हो रही, अतः इस पर विशेष ध्यान दें। उन्होने अधिकारियों से कहा कि वे अपने एस.एल.आर.एम.सेंटरों का नियमित भ्रमण करें, आधिपत्य क्षेत्रों के सफाई कार्यो पर व्यवस्था कड़ी नजर रखें तथा यदि संबंधित सफाई एजेंसी, ठेकेदार लापरवाही बरतता है तो उस पर आवश्यक कार्यवाही करते हुए सफाई कार्यो को बेहतर बनाएं। उन्होने प्रतिष्ठानों से कहा कि शासन द्वारा सिंगल यूज प्लास्टिक, डिस्पोजल आदि के उपयोग विक्रय आदि पर प्रतिबंध लगाया गया है, अतः प्रतिष्ठान अपने आधिपत्य क्षेत्रों में प्रतिबंधित प्लास्टिक का उपयोग न होने दें, लोगों को जागरूक करें तथा इस हेतु आवश्यक प्रचार माध्यमों का उपयोग कर लोगों को प्रतिबंधित प्लास्टिक का उपयोग न करने हेतु प्रेरित व प्रोत्साहित करें।

कचरा डम्प साईटों को क्लीयर कराएं

आयुक्त श्री पाण्डेय ने प्रतिष्ठानों से कहा कि प्रायः देखा जा रहा है कि कहीं पर भी कचरे को डम्प कर दिया जाता है, एस.एल.आर.एम.सेंटर्स के पीछे भी कचरे की डम्पिंग देखी गई है, अतः इन सभी डम्प साईटों को क्लीयर कराएं, डम्प किए गए अपशिष्ट का त्वरित रूप से उचित प्रबंधन करें, अपने-अपने क्षेत्रों में उत्सर्जित सी.एण्ड डी.वेस्ट के डिस्पोजल हेतु ठोस कार्यवाही करें। उन्होने एस.एल.आर.एम.सेंटरों में इन्सीनेटर व फायर फाईटिंग की व्यवस्था किए जाने के संबंध में भी अधिकारियों केा आवश्यक मार्गदर्शन दिया।

स्वच्छ सर्वेक्षण कम्पोनेंट्स के अनुरूप हो सफाई व्यवस्था

आयुक्त प्रभाकर पाण्डेय ने प्रतिष्ठानों से कहा कि पिछले वर्ष स्वच्छ सर्वेक्षण में हमारा कोरबा राष्ट्रीय स्तर पर 14वें स्थान पर था, जो कि एक उपलब्धि थी, किन्तु हमें अपनी शेष कमियों को दूर कर इस वर्ष के स्वच्छ सर्वेक्षण में और अधिक सम्मानजनक स्थान प्राप्त करना हैं, यह सभी के सहयोग से ही संभव हो सकता है, अतः सफाई व्यवस्था, स्वच्छ सर्वेक्षण कम्पोनेंट्स को ध्यान में रखकर संचालित की जाए, साफ-सफाई कार्यो में अधिक से अधिक बेहतरी लाई जाए, कचरे के उचित प्रबंधन पर विशेष फोकस किया जाए।

बैठक के दौरान निगम के स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.संजय तिवारी व सुनील वर्मा, एन.टी.पी.सी. के डिप्टी जनरल मेनेजर पी.के.नंदी, एच.टी.पी.एस. के एक्जिक्यूटिव इंजीनियर डी.के.वर्मा, बालको के मेनेजर अनिल कुमार मिश्रा, डी.एस.पी.एम. के एस.ई. के.एल. देवांगन, सी.डब्ल्यू.एस. कोरबा के एस.ई. सी.एस.देवांगन व बी.पी.सूर्यवंशी, निगम के स्वच्छता निरीक्षक एस.एन.द्विवेदी, उत्तमदास महंत, गिरधर विश्वकर्मा, पी.आई.यू.शिल्पा राठौर सहित निगम के एस.एल.आर.एम.सेंटरों की सूपरवाईजर्स आदि उपस्थित थे।

      More articles

      - Advertisement -

          Latest article